U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
   News  
 

   

  इन्स्पेक्टर ने पत्रकार को पीटा, जीप में लादकर लाक अप में ठूंसा
Tags: Journalist beaten by Police Inspector in Lucknow
Publised on : 13 June 2014  Time 20:17

 

 

लखनऊ। दो पक्षों में झगड़े की सूचना पर मौके पर पहुंचे एक पत्रकार से बीती रात इलाके के पुलिस इंस्पेक्टर ने मारपीट की और जीप में लादकर थाने के लाकअप में ठूंस दिया। पुलिस ने थाने में भी पत्रकार की पिटाई की। घटना की जानकारी मिलने पर आक्रोशित पत्रकारों ने देर रात जिलाधिकारी आवास पर धरना दिया। जबकि शुक्रवार की शाम पत्रकार इस मामले पर मुख्यमंत्री से मिले। मुख्यमंत्री ने मामले में सख्त कार्रवाई की आश्वासन दिया है।

जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात दस बजे पान दरीबा, थाना- नाका, इलाके में दो पक्षों के बीच मारपीट हो गई. सूचना पाकर घटना कवरेज करने के लिए जन सन्देश का रिपोर्टर जसवंत सोनकर मौके पर पहुंचा तो पाया कि एक महिला और उसका बच्चा तथा दो अन्य युवकों को इन्स्पेक्टर हुसैनगंज सतेन्द्र सिंह तथा सिपाही जबरन जीप में बैठाये थे. रिपोर्टर ने मौके पर मौजूद सतेन्द्र सिंह इन्स्पेक्टर हुसैनगंज से घटना के बारे में पूछा. रिपोर्टर द्वारा सवाल पूछने से इन्स्पेक्टर इस कदर भड़क गया कि जीप में अवैध हिरासत में बैठाए हुए महिला और युवकों को नीचे उतारकर पत्रकार का गिरहबान पकड़कर थप्पड़ मारते हुए जीप में ठूंस दिया और नाका थाने ले जाकर लाक अप के अन्दर डाल दिया. थाने के अन्दर इन्स्पेक्टर और सिपाहियों ने पत्रकार की जमकर पिटाई और बदसुलूकी की. जसवंत सोनकर ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी साथी पत्रकारों को दी.

मौके पर सैकड़ों की संख्या में पत्रकार पहुँच गए और जिलाधिकारी तथा एसएसपी को घटना के बारे में अवगत कराया. एसएसपी ने पत्रकारों को वार्ता के लिए आवास बुलाया लेकिन डेढ़ घंटे तक इंतज़ार कराने के बावजूद बाहर नहीं निकले. आजिज़ होकर पत्रकार जिलाधिकारी से मिलने उनके आवास पहुँच गए लेकिन वह भी वार्ता करने बाहर नहीं निकले. इससे आहत होकर पत्रकार वहीं धरने पर बैठ गए. रात्रि डेढ़ बजे सीओ हजरतगंज, इन्स्पेक्टर हजरतगंज तथा एसीएम पंचम मौके पर पहुंचे और पत्रकारों को कार्रवाई का आश्वासन दिया इसके बाद धरना समाप्त किया गया. पत्रकारों पर बढ़ते पुलिसिया ज़ुल्म के विरोध में आज शाम पत्रकारों का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री से मिलने एनेक्सी पहुंचा. यहाँ सुरक्षाकर्मियों द्वारा पत्रकारों से धक्का मुक्की की गई. उसी समय मुख्यमंत्री एनेक्सी पहुंचे थे तथा गाडी से उतरकर लिफ्ट की ओर बढ़ रहे थे. पत्रकारों ने मुख्यमंत्री को जोर से आवाज़ दी. यह सुनकर उन्होंने अपने सुरक्षा स्टाफ से दो पत्रकारों को पंचम तल पर स्थित कार्यालय शिकायत सुनने के लिए बुलाया. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पत्रकार हरि नाथ सिंह तथा पीड़ित जसवंत सोनकर से घटना की विस्तृत जानकारी लेकर कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया।

News source: UP Samachar Sewa

News & Article:  Comments on this upsamacharsewa@gmail.com  

 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET