U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
   News  
 

   

Home>News 
Narad के चैरासी सूत्र हैं पत्रकारिता के शाश्वत सिद्धान्त - K. Vikram Rao
Tags: K. Vikram Rao, National President Indian Fedration of working Journalists (IFWJ), Anand Mishra Abhey, Editor Rastra Dharma, Prabhat Ranjan Deen Editor Kainviz Times, Devarishi Narad Jayanti Vishwa Samvad Kendra Jiyamu Lucknow
News source: U.P.Samachar Sewa
Publised on : 07 May 2012, Time: 19:54
लखनऊ, 07 मई। (उ.प्र.समाचार सेवा)। देवर्शि नारद के चैरासी सूत्र वस्तुतः पत्रकारिता के शाश्व सिद्धान्त हैं। इनसे प्रेरणा लेकर मीडिया जगत समाज के समक्ष आदर्ष प्रस्तुत कर सकता है। उक्त बातें प्रख्यात पत्रकार एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के. विक्रम राव ने कही। उन्होंने फ्रांस और उत्तर प्रदेष के चुनावी सन्दर्भ में नारद जयन्ती की चर्चा की। उन्होंने कहा कि लोक कल्याण के अनुरूप काम करने वालोें को ही सत्ता में वापसी संभव होती है। नारद जी ने लोककल्यााण को ही सर्वाधिक महत्व दिया। नारद जी आज भी प्रासंगिक हैं। उन्होंने कर्तव्यपरायणता का सन्देष दिया। यह आज के पत्रकारों के लिए भी उपयोगी है। सृजन ही समाचार का आधार होना चाहिए। उन्हें निराकरण भी देना चाहिए। नारद जी ने ईमानदार पत्रकारिता का संदेष दिया। वह घटनास्थल पर उपस्थित रहते हैं। घटना क्या है, केवल यह नहीं बताया। घटना क्या हुई इसको उजागर किया।समाधान दिया। इसके बाद भी वह आसक्त नहीं। वह ज्योतिश विज्ञान का भी जनहित में प्रयोग करते हैं।
कार्यक्रम के विषिश्ट अतिथि राश्ट्रधर्म पत्रिका के संपादक आनन्द मिश्र अभय ने कहा कि नारद जी सदैव भ्रमण करते हैं उनका उद्देष्य जनहित है। वह सभी के विष्वास पात्र हैं। लोककल्याण में निःस्वार्थ समर्पित व्यक्ति ही अपनी विष्वसनीयता कायम कर सकता है। नारद जी का जीवन इसकी प्रेरणा देता है। पत्रकारों को अपनी विष्वसनीयता बनाने का सतत प्रयास करना चाहिए।
राश्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य अषोक बेरी ने कहा कि पत्रकार समाज को दिषा देने वाले हैं। इसके लिए उनका चिन्तन सकारात्मक होना चाहिए। राश्ट्र और समाज के हित को सर्वोच्च मानना होगा। भावी पीढी को भारतीय संस्कृति के अनुरूप संस्कारवान बनाना पत्रकारों का दायित्व है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कैनविज टाइम्स के संपादक प्रभात रंजन दीन ने कहा कि नारद जी जिज्ञाशु हैं। उनकी जिज्ञासा सार्थक परिणाम की ओर ले जाती है। वह अनुभूतियों से प्रेरित पत्रकार हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचारों की खबर को हाषिए पर रखना अपराध है। नारद से पे्ररणा लेने वाला पत्रकार कायर नहीं हो सकता। उन्होंने हिन्दुओं से संबंधित मामलों पर सरकार और पत्रकारिता के दोहरे मापदण्डों को अनुचित बताया। मजहबी भावना से ऊपर उठकर सच्चाई को कहने का साहस होना चाहिए।

Some other news stories

 
मेरठ जेल में संघर्ष. आगजनी, डिप्टी जेलर समेत छह घायल Marriage registration का विरोध करेंगे Indian Muslim
कुशीनगरःछात्राओं का यौन उत्पीड़न, दो हिरासत में हुकुम सिंह भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए
गरीबों के घरों पर बुलडोजर, सपाईयों के मकान महफूज लखनऊ में सीएम के निर्देश पर trafic control
युवक ने उजाड़ दी girl friend  की दुनिया Darul Uloom  देवबंद के Kashmiri student की हत्या का मामला
स्वर्ण शताब्दी में साफ्टवेयर इंजीनियर युवती से छेड़छाड़ मोदीनगर के आरोपी व्यापारी नशे में थे चूर. गाजियाबाद में गिरफ्तार
जनता दर्शन की पुरानी व्यवस्था बहाल Cancer  की चपेट में Indian youth
Highway से किडनैप, होटल में Gang rape & MMS  त्रकार काजमी की गिरतारी के विरोध में उग्र प्रदर्शन
March 30: पूनम सेलिब्रेट Cleavage day प्रमुख सचिव मुख्यमंत्रीसंजय अग्रवाल की तैनाती निरस्त
तीस PCS अधिकारियों के तबादले बादल चटर्जी APC Branch  भेजे गए,
मृत्युंजय कुमार मेरठ के कमिश्नर आगरा और गोरखपुर में नए आईजी तैनात

News source: U.P.Samachar Sewa

News & Article:  Comments on this upsamacharsewa@gmail.com  

 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET