U.P. Web News
|

Article

|
|
BJP News
|
Election
|
Health
|
Banking
|
|
Opinion
|
     
   News  
 

   

U.P. Election: तीसरे चरण में भीरतरघात से सपा को नुकसान
Tag: #UP Election 3rd Phase analysis
Publised on : Last Updated on: 20 February  2017, Time 10:42

Lucknow, लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा के चुनाव मे तीसरा चरण समाजवादी पार्टी के लिए भारी नुक्सानदेह साबित हुआ है। इस चरण का चुनाव सपा के गढ़ में माना जा रहा था। लेकिन, सपा का यह गढ़ उसकी अपनी ही भीतरघात से ढहता हुआ दिखायी दे रहा है।

राजधानी में मुसलमानों की पसंद रही बसपा

इस चरण में लखनऊ, सीतापुर, हरदोई, इटावा और मैनपुरी में सपा के नाराज नेताओं ने भीतरघात किया है। इससे उसके गढ़ में भाजपा और बसपा ने सैंध लगा दी है। कानपुरनगर और कानपुर देहात में सपा ने भाजपा के साथ मुकाबला किया है। किन्तु लखनऊ मण्डल के चारों जिलों लखनऊ, सीतापुर, हरदोई और उन्नाव में भाजपा का बसपा मुकाबला हुआ है। सबसे बड़ा नुकसान सपा को मुसलमान मतों के बसपा की ओर खिसकने से हुआ है। राजधानी में अधिकांश बूथों पर मुसलमानों की पहली पसंद बसपा रही। जबकि सीतापुर और हरदोई में भी मुसलमान मतों का विभाजन सपा और बसपा के बीच हुआ है।

गढ़ ढहने की सूचना पर सामने आये मुलायम

वहीं कानपुर मण्डल के इटावा, मैनपुरी, कन्नौज, फर्रुखाबाद, औरैया की यादव बाहुल्य सीटों पर सपा की घरेलू लड़ाई ने प्रत्याशियों की हालत पतली कर दी है। यहां यह साफ देखने को मिला कि अखिलेश यादव समर्थक और शिवपाल यादव समर्थक एक दूसरे के सामने थे। अपने गढ़ में पराजय को बचाने के लिए सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को हस्तक्षेप करना पड़ा और दोपहर में ही उनका बयान आया कि सपा में कोई झगड़ा नहीं है। सरकार बनेगी और उसमें अखिलेश मुख्यमंत्री और शिवपाल सिंह दूसरे नम्बर के मंत्री होंगे। उधर उनकी पत्नी साधना गुप्ता यादव ने कहा कि अखिलेश और प्रतीक उनकी दो आंखें हैं। ये दोनों बयान दोपहर बाद उस समय आये जब मुलायम सिंह यादव को अपने ही गढ में भीतरघात से पराजय नजर आने लगी।

इटावा और मैनपुरी में जिले में मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव की उपेक्षा से यहां सपा के परम्परागत मतदाताओं में भारी नारजगी दिखी। इसका असर मतदान पर भी हुआ है। यह वजह रही कि इन जिलों में मतदान तीसरे चरण के औसत कम हुआ। इटावा में कुछ शिवपाल सिंह समर्थक खुलकर अखिलेश यादव का विरोध करते नजर आये। वहीं मैनपुरी में जहां सपा ने पहले चारों सीटें सदर, करहल, शिवनी और भोगांव जीती थीं। वहीं इस बार इन तीनों सीटों पर त्रिकोत्मक मुकाबले में सपा की प्रतिष्ठा दांव र लग गई है। इन सीटों पर भाजपा और बसपा ने चुनौती दी है।

जसवंतनगर में लाठी चार्ज से सपा को ही नुक्सान

इटावा के जसवंतनगर विधान सभा क्षेत्र में पुलिस ने दोपहर बाद अनावश्यक रूप से लाठी चार्ज कर दिया। इससे सपा को ही नुक्सान हो गया है। सपा नेता शिवपाल सिंह यादव ने आरोप लगाया है कि किसी के इशारे पर प्रशासन ने लाठी जार्ज किया। इससे वोटर भाग गए। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक मतदान चल रहा था। लेकिन प्रशासन ने लाठी चार्ज करवा दिया। इससे नगर सपा अध्यक्ष समेत कई लोग घायल हो गए। श्री यादव ने कहा कि इस मामले की जांच करायी जाएगी। ज्ञातव्य है कि दोपहर बाद तीन बजे के करीब जसवंतनगर विधान सभा क्षेत्र के पालिका बाजार स्थित प्राथमिक विद्यालय पर डीएम और एसएसपी निरीक्षण के लिए पहुंच तो वहां मतदाताओं का भीड़ लगी थी। इस पर पुलिस ने उन्हें हटाने की कोशिश की तो भीड़ नारेबाजी शुरु कर दिया। इसी पर पुलिस ने लाठी चार्ज करके लोगों को खदेड़ दिया।

U.P. Election तीसरे चरण में 61.16 प्रतिशत मतदान  
UP Election: दूसरे चरण ने बढ़ाया भाजपा का उत्साह बसपा से है भाजपा का मुकाबलाः ओमप्रकाश माथुर

रानियों के द्वन्द में अमेठी के राजा की प्रतिष्ठा दांव पर दूसरे चरण से पहले क्यों बदली भाजपा ने अपनी रणनीति

News & Article:  Comments on this upsamacharsewa@gmail.com  

 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET