U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  News  
 

Home>News       

publised on : 2010-10-31.  Time 06:29 IST ,             Last update:  2010-10-31.  Time 06:35 IST

डा.र  बसपा सरकार अपराधों में लिप्त : शाही

Tags: BJP, Surya Pratap Shahi, Mahamaya Garib Arthik Madad Yojna
Lucknow. Oct. 27, 2010, UP Web News लखनऊ, 27 अक्टूबर, 2010। (उप्रससे)। यू.पी.वेब न्यूज

शाहजहांपुर, 31 अक्टूबर ।(उप्रससे)।  समाजवादी पार्टी के शासन में व्याप्त अराजकता एवं गुण्डागर्दी को समाप्त करने का वायदा करके सत्ता में आयी बसपा आम नागरिकों की जान-माल की सुरक्षा करने में पूरी तरह विफल रही है। बसपा नेता व पदाधिकारी अपने संरक्षण में माफिया एवं गुण्डों को पनाह दे रहे है और स्वयं अपराधों में लिप्त है।

उक्त विचार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने नगर विधायक के आवास पर पत्रकारों के समक्ष व्यक्त किये। श्री शाही ने पत्रकारों को बताया कि पंचायत चुनावों में हुयी भारी हिंसा इसी का परिणाम है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। आनन्दसेन यादव, मनोज गुप्ता हत्याकांड, सिपाही की हत्या में जमुना प्रसाद निषाद मंत्री बलिया में सुभाष यादव के परिवार वालों ने अधीक्षक अभियंता पर हमला किया। लखनऊ में दिनदहाड़े सीएमओ की हत्या व पंचायत चुनावों में भारी हिंसा ने बसपा सरकार की पोल खोल दी है। प्रदेश की जनता सुरक्षित नहीं है। दूसरी ओर बसपा सरकार किसानों को बुरी तरह लुटवा रही है। पिछले वर्ष भी प्रदेश में धान की खरीद नहीं हो पायी थी और इस वर्ष भी किसान 1050 के बजाय अपना धान 800 रूपए प्रति कुण्टल पर बेचने को मजबूर है। गन्ने का मूल्य अभी तक घोषित नहीं किया गया है। पिछले वर्ष गन्ना किसानों ने अपने संघर्ष के बल पर गन्ना 250 रूपए प्रति कुण्टल मिलो को दिया था, जबकि सरकार ने 165 रूपए प्रति कुण्टल ही मूल्य घोषित किया था। भाजपा इस वर्ष गन्ने की कीमत 350 रूपए प्रति कुण्टल घोषित किये जाने की मांग करती है।

एक सवाल के जबाव में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री शाही ने प्रदेश में मध्यावधि चुनाव होने की आशंका जताई। श्री शाही ने बाढ़ में ध्वस्त मकानों व खेती की बरबादी की भरपाई किये जाने की मांग भी दोहराई। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि किसी भी जनपद में बाढ़ राहत का कोई भी इंतजाम सरकार नहीं कर पायी। यह संवेदनहीनता की एक पराकाष्ठा है। श्री शाही ने बताया कि भाजपा 10 नवम्बर से 20 नवम्बर तक जन जागरूकता अभियान चलायेगी तथा दिसम्बर में वह गांव चलो अभियान का नेतृत्व करेंगी। श्री शाही ने अयोध्या में भव्य मंदिर बनाये जाने का समर्थन करते हुए कहा कि न्यायालय का निर्णय भी इसी ओर इंगित करता है। उन्होंने कहा कि सरकार स्थानीय निकाय चुनाव को दलीय सिम्बल पर नहीं करा रही है, परंतु भाजपा अपने प्रत्याशी को हर जगह उतारेगी।

महामाया गरीब आर्थिक मद्द योजना का शुभारम्भ आज से

Mahamaya Garib Arthik Madad Yojna

शाहजहांपुर, 31 अक्टूबर ।(उप्रससे)।  उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री महामाया गरीब आर्थिक मद्द योजना का शुभारम्भ जिलाधिकारी अजय चौहान के द्वारा 1 नवम्बर को किया जायेगा। उक्त जानकारी मुख्य विकास अधिकारी मुरली मनोहर लाल ने दी। उन्होंने बताया कि शासन की महत्वाकांक्षी योजना उत्तर प्रदेश मुख्य मंत्री महामाया गरीब आर्थिक मद्द योजना का शुभारम्भ जिलाधिकारी अजय चौहान के द्वारा 1 नवम्बर  को गांधी भवन प्रेक्षागृह में पूर्वान्ह 11 बजे किया जायेगा। इस अवसर पर लाभार्थियों को बैंक पास बुक प्रदान की जायेंगी, जिसमें 6 माह की धनराशि स्वरूप 18 सौ रूपए भी स्थनान्तरित किये जायेगे। इसके अतिरिक्त अन्य 34069 लाभार्थियों के खातों में भी शीघ्र 6-6 माह की धनराशि स्थानान्तरित कर दी जयेगी। 

जमीन विवाद में भाई की गोली मारकर हत्या

शाहजहांपुर, 31 अक्टूबर ।(उप्रससे)।  जमीन के विवाद को लेकर चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी और तीन भाइयों को घायल करके आरोपी मौके से फरार हो गये। सभी घायलों को जिला अस्पताल उपचार के लिए लाया गया।

जनपद के अल्हागंज थाना क्षेत्र के ग्राम कटौली निवासी 28 वर्षीय प्रकाश का अपने चचेरे भाई मुनिस्टर से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। रंजिशवंश मुनिस्टर ने अपने चचेरे भाई की जमीन पर जानवर बांध दिए। प्रकाश ने मुनिस्टर से जानवर बांधने का विरोध किया। बात बढ़ने लगी और दोनों भाइयों में हाथापाई शुरू हो गई। हाथापाई के दौरान मुनिस्टर ने अपने पुत्रों की मदद से चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी और तीन चचेरे भाई रामवीर, हेतराम व रामपाल को घायल कर दिया। आरोपी घटना स्थल से फायरिंग करते हुए फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा और घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया।

शासन के नए आदेश से बढ़ सकती है प्रशासन की मुश्किलें

शाहजहांपुर, 31 अक्टूबर ।(उप्रससे)।  पंचायत चुनाव की मतगणना में लगे अधिकारियों की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। दरअसल शासन के नए आदेश में वित्तीय वर्ष का सालाना बजट 30 नवम्बर तक बनाने के आदेश दिए हैं। चूंकि बजट में सबसे अहम भूमिका ग्राम पंचायत की होती है इसलिए बजट बनने में देरी के आसार साफ नजर आ रहे हैं।

सभी विभाग प्रमुखों को 2011-12 के वार्षिक बजट को 30 नवम्बर तक बनाने के आदेश तो दे दिए गए हैं। लेकिन व्यावहारिक तौर पर इसमें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। इसका प्रमुख कारण पंचायत चुनाव हैं। दरअसल पंचातय चुनाव में अभी मतगणना का कार्य चल रहा है। इसके बाद ग्राम प्रधान व बीडीसी सदस्य शपथ लेंगे। चूंकि कृषि, गन्ना, उद्यान, पशुपालन, दुग्ध, पंचायतीराज, सिंचाई, सहकारिता सहित तमाम ऐसे विभाग हैं जहां प्रस्ताव ग्राम सभाओं से ही आते हैं। यही नहीं जिला नियोजन समिति में 50 प्रतिशत ब्लाक प्रमुखों को इसका सदस्य बनाया जाता है। यह प्रस्तावों पर चर्चा कर उसे अंतिम रूप देते हैं। देखा जाए तो बजट पिछले वित्तीय वर्ष के आधार पर ही बनने की उम्मीद है। क्योंकि मतगणना के बाद शपथ ग्रहण कार्यक्रम होगा जिसमें समस्त नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों एवं बीडीसी सदस्यों को शपथ दिलायी जायेगी। इसके बाद ग्राम सभाओं से प्रस्ताव मिल सकेंगें। तदोपरांत ही जिला नियोजन समिति की बैठक कर प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया जाएगा। तब कहीं जाकर बजट तैयार हो सकेगा। वहीं विभागीय अधिकारी व कर्मचारी भी अभी चुनाव डियूटी में व्यस्त चल रहे हैं। जिला अर्थ संख्या अधिकारी रमेश चंद्र बाजपेयी ने के अनुसार बजट के सम्बंध में अभी कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है।

 

 

 
   
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET