U.P. Web News
|

Article

|
|
BJP News
|
Election
|
Health
|
Banking
|
|
Opinion
|
     
   News  
 

   

नोटबंदी में जान गंवाने वालों के परिजनों को दो दो लाख की सहायता
Tags: CM Akhilesh Yadav, Financial help to died people family, Demonetisation
Publised on : Last Updated on: 24 December 2016 , Time 18:37

लखनऊ: 24 दिसम्बर, 2016। (उ.प्र.समाचार सेवा) । मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नोटबंदी के दौरान धनराशि निकालने के लिए एटीएम और बैंक की लाइन में मृत हुए व्यक्तियों के परिवारों को भी आर्थिक सहायता धनराशि के चेक प्रदान किए। एटीएम लाइन में मृत 14 व्यक्तियों के परिवारों को 2-2 लाख रुपए के चेक प्रदान किए गए। एटीएम लाइन में मृत व्यक्तियों के परिवारों में जनपद अलीगढ़ की स्व0 रज़िया, सीतापुर के स्व0 वीरेन्द्र कुमार, कुशीनगर की स्व0 तीर्थराजी, महोबा के स्व0 बालादीन, लखीमपुर खीरी के स्व0 पैकरमा, बरेली के स्व खलील अहमद, प्रतापगढ़ की स्व0 करमईता, हमीरपुर के स्व0 बबलू यादव तथा स्व0 घसीटा, आगरा के श्री राकेश चन्द्र, औरैया के स्व0 राधा रमण, जालौन के स्व0 गंगा चरण, बुलन्दशहर के स्व0 मीर सिंह तथा कानपुर देहात की श्रीमती सर्वेशा देवी के परिवार शामिल हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने शहीदों और एटीएम लाइन में मृत व्यक्तियों को श्रद्धांजलि देते हुए उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की।
श्री यादव ने कहा कि नोटबंदी से शुरू में कुछ लोगों में उत्साह था कि कोई बड़ा बदलाव आने वाला है। लेकिन अब वह लोग भी कह रहे हैं कि इससे अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान हुआ है। व्यापार और पैसे के महत्व को समझने वाले देश-विदेश के अर्थशास्त्री भी मानते हैं कि नोटबंदी से अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा है और इससे विकास की दर में कमी आएगी। यह तो केन्द्र सरकार बताएगी कि इसकी भरपाई कैसे होगी। नोटबंदी के बाद गरीब मजदूरों का रोजगार काफी कम हो गया है, जिससे उन्हें वापस घर जाना पड़ा है। कम्पनियां अपने कर्मचारियों के वेतन में कटौती कर रही हैं। मेरा मानना है कि इससे जनता को काफी दुख और तकलीफ हुई है। दुख और तकलीफ देने वालों से समय आने पर जनता हिसाब करती है।

सीएम ने दी शहीदों के परिजनों को 25-25 लाख की सहायता परिवर्तन यात्राओं में दो करोड़ लोगों से हुआ सीधा संवादः डा महेन्द्र सिंह
सरकार का 17 अति पिछड़ी जातियांे पर फिर दांव महाराजा विक्रमादित्य पर डाक टिकट जारी
Share as:  

News source: UP Samachar Sewa

News & Article:  Comments on this upsamacharsewa@gmail.com  

 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET